Html Introduction In Hindi

HTML Information को सुन्दर और आकर्षक तरीके से World Wide Web में Present करने का एक माध्यम है। HTML Tim Berners lee के द्वारा 1991 में create की गयी थी। HTML World Wide Web Consortium (W3C) द्वारा एक standard के रूप में manage की जाती है। .

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आप कौनसा operating system या editor use कर रहे है webpages create करने के लिए हमेशा HTML का ही प्रयोग किया जाता है।

इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आप कौनसा operating system या editor use कर रहे है webpages create करने के लिए हमेशा HTML का ही प्रयोग किया जाता है।
.

HTML में create किये गए web pages को सभी platforms पर देखा जा सकता है। इसके लिए आपको किसी प्रकार के special platform या software की आवश्यकता नहीं होती है। HTML platform independent है।

आइये अब सबसे पहले HTML का मतलब समझने का प्रयास करते है। HTML की full form Hyper Text Markup Language होती है। इनमें से हर word का एक विशेष अर्थ है जिसे नीचे detail से समझाया जा रहा है।

Hyper

Hyper का मतलब होता है की HTML sequence में नहीं काम करती है। जैसा की किसी programming language में होता है, एक statement के बाद अगला statement execute होता है। यदि किसी HTML file में link है और यूज़र उस पर click करता है तो वो execute हो जाती है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की उससे पहले कितने elements है और वो सभी load हुए है या नहीं। एक HTML file के सभी elements independent होते है।

ये भी जरुरी नहीं की किसी एक HTML file से पहले कोई दूसरी HTML file execute नहीं हो सकती है। HTML elements की ही तरह सभी HTML files भी एक दूसरे से independent होती है

Text

किसी webpage में text सबसे महत्वपूर्ण होता है। Text ही वह information होती है जिसे present करने के लिए webpage design किया जाता है। HTML text को format करके webpages में present करने के लिए यूज़ की जाती है।

Markup

  • Markup का मतलब text के layout और style को format करना होता है। आप text को tags के द्वारा mark करते है। जिस प्रकार के tags द्वारा text को mark किया जाता है वैसे ही text web page में show होता है।
  • उदाहरण के लिए यदि आप किसी text को < h1> tag के द्वारा mark करते है तो webpage में वह text बड़ी और bold heading के रूप में दिखाई देगा।

So what is HTML? (A simple definition in plain Hindi)

HTML एक language है जो web development के लिए यूज़ की जाती है।

HTML एक Hyper Text Markup Language है जो web pages create करने के लिए use की जाती है। HTML के विभिन्न tags को use करते हुए आप webpages create करते है और उनमें विभिन्न elements जैसे की images, audio, video, tables, lists, links और text आदि add करते है।

Web desinging के क्षेत्र में सीखी और सिखायी जाने वाली HTML सबसे पहली language होती है। HTML के साथ का भी प्रयोग किया जाता है जो webpage को और भी बेहतर design करने के लिए use की जाती है। HTML के साथ के प्रयोग से webpages में logic add किया जाता है और उन्हें dynamic बनाया जाता है।

HTML Versions

अब तक HTML के बहुत से version industry में आ चुके है। HTML के हर version में कुछ नए elements add किये जाते है। HTML के सभी versions के बारे में निचे detail से बताया जा रहा है। ये सभी versions HTML की history और समय के साथ किये गए improvments को दर्शाते है।

HTML 1.0

ये HTML का पहला version था। उस समय बहुत कम लोग इस language के बारे में जानते थे और HTML भी बहुत limited थी। उस समय HTML के द्वारा simple text के साथ webpages create करने के अलावा ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता था।

HTML 2.0

इस version में HTML 1.0 के सभी features थे। इस version के साथ ही HTML website develop करने का बुनियादी माध्यम बन चुकी थी।

HTML 3.0

इस version के आने तक HTML बहुत popular हो चुकी थी। इस version में browsers के साथ compatibility problem होने की वजह से इस version को रोक दिया गया था। लेकिन बाद में नए और advanced tags के साथ इसे introduce किया गया था।

HTML 3.2

इस version में पिछले version के बाद कुछ नए tags add किये गए। ये वो time था जब W3C ने website development के लिए HTML को standard घोषित किया था। HTML का प्रयोग अब limited नहीं रहा था और इसे व्यापक स्तर पर use किया जा रहा था।

HTML 4.01

इस version में कुछ नए tags के साथ ही cascading style sheet को भी introduce किया गया था। इस समय HTML पूरी तरह modern language बन चुकी थी|

HTML 5.0

ये HTML का latest version है। इसमें multimedia support के लिए कुछ नए tags provide किये गए है। HTML5 के बारे में और अधिक जानकारी आप tutorial से प्राप्त कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *